प्रशंसापत्र

मनोचिकित्सक और जीवन स्किल्स कोच, डॉ शिशिर पलसापुरे: "जीवन कौशल और सेल्फ मैनेजमेंट तकनीकें आपकी बाइक में शॉक-अप की तरह हैं। वे रास्ते की मरम्मत नहीं करते हैं लेकिन आपकी सवारी को आसान बनाते हैं।"

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के प्रजनन स्वास्थ्य और अनुसंधान विभाग में किशोर, यौन और प्रजनन स्वास्थ्य पर काम करने वाले डॉ वी. चंद्रमौली: "माता-पिता और अभिभावक को विशेष रूप से मासिक धर्म जैसे टॉपिक्स पर अपने बच्चों को शिक्षित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभानी होगी।" COVID-19 के कारण स्कूल बंद होने से व्यापक यौन शिक्षा तक किशोरों की पहुँच कम हो गयी है...ऐसे में टीनबुक पर मौजूद संसाधन युवाओं के लिए उपयोगी होंगे।''

पॉपुलेशन फाउंडेशन ऑफ इंडिया की कार्यकारी निदेशक पूनम मुतरेजा: "यह काम युवा लोगों के लिए बहुत मायने रखता है। टीनएजर्स के लिए इंटरनेट और डिजिटल कंटेंट का बढ़ता हुआ ऐक्सेस, टीनबुक सरीखे, ऑनलाइन नॉलेज हब की तत्काल आवश्यकता, को दर्शाता है। इस तरह के प्लेटफॉर्म टीनएजर्स को मौका देते है की वे इस उम्र से एडल्ट होने तक की सारी सही जानकारियों से खुद को वाकिफ रख सके । COVID-19 युग के बाद डिजिटल शिक्षा नया नॉर्मल हो जाएगा और टीनबुक जैसे प्लेटफॉर्म सही दिशा में एक मजबूत कदम हैं।”

राजस्थान के एक सरकारी स्कूल की शिक्षक मनोहर जी:  “बच्चे अपने यौन जिज्ञासाओं के बारे में अपने माता-पिता के सामने खुलकर बात नहीं कर पाते हैं। यह साधन बच्चों के साथ बातचीत करने में अभिभावकों और शिक्षकों की बहुत मदद करेगा।"

निधि तिवारी, 12-वर्षीय किशोरी की माँ: "काश हमे भी मेंस्ट्रुएशन के बारे मे इतने बढ़िया से जानकारी मिली होती।"

रोहित धवन, 11-वर्षीय बालिका के पिता: "यह देखकर खुशी हुई कि एक विश्वसनीय सूत्र है जो मेंस्ट्रुएशन, सेक्सुएलिटी, इन्फैटुएशन आदि जैसे टॉपिक्स को सामान्य करने की कोशिश कर रहा है।"

विकास मलिक, 13-वर्षीय किशोरी के पिता: “हम इन वर्षों के दौरान अपने बच्चों की मदद करना चाहते हैं, लेकिन हमारा रेफरेन्स हमारा अपना टीनएज अनुभव है जो इस नए सोशल मीडिया युग में स्पष्ट रूप से काफी पुराना है। ऐसे में टीनबुक बहुत मददगार हैं।”

13-साल की रिधी: ''टीनबुक टीनएजर्स के लिए बहुत अच्छी है। यह सभी आवश्यक दिशा-निर्देश देती है और टीनएजर्स  द्वारा सामना की जाने वाली ज़्यादातर समस्याओं से निपटती है।"

16-साल के संचित: “यह बहुत अलग साइट है। और उन टीनएजर्स के लिए विशेष रूप से महत्वपूर्ण है, जिन्हें अन्य लोगों से बात करने मे दिक्कत महसूस होती है।”

16 साल के सात्विक: "यह वेबसाइट बहुत ही रिलेटेबल है और टेक्नोलॉजी द्वारा संचालित इस समाज में टीनएजर्स के लिए एकदम सही है।"

नियति शाह, सेक्सुअलिटी एजुकेटर: "टीनबुक किशोरों, अभिभावकों और शिक्षकों के लिए एक आसान मार्गदर्शिका है। भाषा समझने में सरल है, दृष्टिकोण सकारात्मक हैं और डिज़ाइन टीनएजर्स को पसंद आएगा! । 

This site uses cookies. By continuing to browse the site you are agreeing to our use of cookies Find out more here